Download the YeLo app now!

Return On Investment क्या है? हमें Investment क्यों करनी चाहिए।

ROI Calulator | EMI Calculator

निवेश ( Investment ) क्या है?

भविष्य में जब आप किसी भी तरह का काम नहीं कर रहे है और आपकी कोई इनकम नहीं है, ऐसी परिस्थितियों में आपको पैसों की आवश्यकता तो होती ही है। लेकिन बिना नौकरी या बिजनेस के पैसे लाएंगे कहाँ से? इसके लिए आप आज की तारीख में अपने पैसों से घर, जमीन, गहने या किसी तरह की स्किम खरीदते है। जिससे भविष्य में आपके पैसे सुरक्षित रहते ही है, साथ ही इसपर आने वाले मुनाफे का आप फायदा उठा सकते है। जैसे कि आज आप ने एक घर खरीदा और कुछ सालों में उसकी कीमत बढ़ने के बाद उसे बेच दिया, तो आपको आपने जिस कीमत में अपना घर खरीदा था, उससे ज्यादा पैसे मिलते है। साथ ही इन कुछ सालों में अगर इस घर को आप रेंट पर देते है, तो हर महीने आने वाले रेंट से भी आपको फायदा ही होता है।

इन्वेस्टमेंट के दो मुख्य प्रकार है। एक है, फिक्स डिपाजिट, शेयर या बॉन्ड जिसमें आपको एक निश्चित ब्याज दर के साथ आपका रिटर्न हर महीने या साल मिलता है। दूसरा है, किसी चीज को खरीदना और उसकी कीमत बढ़ने के बाद उसे बेचकर अपने निवेश पर लाभ उठाना। किसी भी इन्वेस्टमेंट में सबसे जरूरी बात होती है, RETURN ON INVESTMENT। सबसे पहले जान लेते है, की Return On Investment होता क्या है।

Return on Investment क्या है।

इन्वेस्टमेंट की एफिशिएंसी ( Efficiency) की तुलना या मूल्यांकन करने के लिए, एक मेजर का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे Return On Investment कहाँ जाता है। अब सरल भाषा में कहाँ जाए तो आपको अपनी इन्वेस्टमेंट पर कितना लाभ होगा, इसे Return On Investment कहाँ जाता है, जिसका शार्ट फार्म ROI है। अब जान लेते हैं कि, ROI कैसे Calculate कर सकते है और ROI Calculator किसे कहते है।

Return On Investment Calculator क्या है और ROI Calculate कैसे करें।


ROI कैलक्यूलेटर किसी भी तरह का अलग उपकरण नहीं है। हालांकि यह एक प्रकार का मैथमैटिकल फार्मूला है, जिसके द्वारा आप अपना ROI जान सकते है।

ROI फार्मूला :

ROI = [ ( GAIN FROM INVESTMENT – COST OF INVESTMENT ) × 100 ] ÷ COST OF INVESTMENT

अब ऊपर दिए गए फार्मूले में आप अपनी कीमत भरकर अपनी इन्वेस्टमेंट का ROI निकाल सकते है।

उदाहरण :

अगर आप आज की तारीख में किसी चीज को 50000 रूपयों में खरीदते है, और कुछ सालों बाद आप उसी चीज को 75000 रुपयों में बेच देते है। तो आपका ROI कुछ इस प्रकार है।

Gain From Investment = 75000
Cost Of Investment = 50000

ROI = [( 75000 – 50000) × 100] ÷ 50000 = 50 %

इसका मतलब है कि, आपका ROI 50% है।

ROI फार्मूले के फायदे और लिमिटेशन

फायदे

1. ROI फार्मूला समझने में एकदम आसान है और साथ ही इसे कैलक्यूलेट करना भी।

2. ROI फार्मूला बहुत लोकप्रिय है और हर जरूरी जगह इसका उपयोग किया जाता है।

3. इन्वेस्टमेंट किसी भी प्रकार की हो, ROI फार्मूले का इस्तेमाल किया जा सकता है।

लिमिटेशन (limitation)

1. ROI फार्मूला कैलक्यूलेशन निवेशक के आधार पर अलग-अलग हो सकती है। कुछ लोग आसानी से इसे अनदेखा कर देते है, ताकि हेरफेर किया जा सकें।

2. ROI समय पर निर्भर नहीं है। इसीलिए हम इसके माध्यम से समय के प्रभाव को नहीं देख सकते है, की कितने समय में आपके इन्वेस्टमेंट पर, कितना अच्छा या बुरा प्रभाव होगा।

हमें Investment क्यों करनी चाहिए।

हम अपने आस पास हमेशा देखते आ रहे है कि, लोग इस इन्वेस्टमेंट नाम की चीज के पीछे भागते रहते है। लेकिन ऐसा क्यों? यह सवाल हम सभी को सताता है। तो आज हमें इन्वेस्टमेंट क्यों करनी चाहिए यह जान ही लेते है।

1. आप अपने बुढ़ापे के लिए पैसे बचा सकते है। बुढ़ापा इंसान के जीवन का एक ऐसा समय है, जहाँ पर उसे दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे वक्त में अगर आपके पास अपने इन्वेस्ट किए कुछ पैसे हो, तो आपको दूसरों पर पैसों के लिए तो निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।
2. अपनी जरूरतों को जल्द ही पूरा कर सकते है।
घर और गाड़ी खरीदना भला किसका सपना नहीं होता है। आपकी सैलरी का कुछ हिस्सा आज से ही आप हर महीने इन्वेस्ट करें, तो इन्वेस्टमेंट से मिलने वाले लाभ से आप अपने सपने पूरे करने में जल्द ही सफल हो सकते है।
3. बैंक लोन के तनाव से बच सकते है।
अगर आप कुछ खरीदना चाहते है, जैसे कि घर या गाड़ी जिसके लोन बैंक में उपलब्ध पहले से ही है। लेकिन लोन लेने के बाद आने वाले तनाव से कोई भी अनजान नहीं है। लेकिन अगर आपके पास पहले से पैसे हो, जो आपको अपनी इन्वेस्टमेंट से मिले हो।
4. ज्यादा टैक्स भरने से बच सकते है।
अगर आप अपने पैसे रिटायरमेंट फण्ड के नाम पर इन्वेस्ट करते है, तो आपको कम टैक्स भरने में सहायता कर सकता है।

Ready to get started?